जिला में फिल्म पद्मावती के विरोध के जुलुस के नाम पर फिर दंगें की कोशिश की गयी

फिल्म पद्मावती

जिला में फिल्म पद्मावती के विरोध के जुलुस के नाम पर फिर दंगें की कोशिश की गयी

बेतिया। राज्य स्थायी समिति सदस्य,भाकपा (माले) वीरेंद्र प्रसाद गुप्ता ने कहा कि विगत सोमवार 27 नवम्बर 2017 को फिल्म पद्मावती के विरोध के जुलुस के नाम पर फिर दंगें की कोशिश की गयी। जुलुस में प0 चम्पारन के भाजपा सांसद संजय जायसवाल, वाल्मीकिनगर सांसद सतीश दूबे, पूर्व मंत्री बिनय बिहारी और कई भाजपा के बड़े नेता थे। हाल के दिनों में लगातार योगापट्टी के मच्छरगावां, रामनगर, नौतन, बैरिया, में और अब कल बेतिया में दंगे की कोशिश इन नेताओं के नेतृत्व में हुयी है। जुलुस में शामिल प्रशिक्षित युवाओं के द्वारा अल्पसंख्यक मुहल्ले में दुकान में तोड़ फोड़, लूट के जरिए कल दंगे की कोशिश हुयी। प्रशासन कुछ लोगों पर मुकदमें कराकर अपनी भूमिका पूरी समझता है। कल की घटना भाजपा सांसदों, विधायकों की मौजूदगी में सोची समझी योजना के तहत है। इस लिहाज से उन पर भी दंगा-फसाद कराने की साजिश के तहत अपराधिक मुकदमें जिला प्रशासन करे। उनकी लगातार हो रही इस तरह की कार्यवाही से कभी बहुत से निर्दोष लोगों की जान जा सकती है। ऐसे लोगों को जो जन समस्याओं के समाधान के बदले हमेशा साम्प्रदायिक तनाव फैलाने की कोशिश करते हैं। प्रतिनिधित्व के अयोग्य घोषित किया जाए।