सिवान: सिवान के आसाराम उर्फ़ असगर मस्तान समेत दर्जनों पर प्राथमिकी दर्ज

सिवान: सिवान के आसाराम उर्फ़ असगर मस्तान समेत दर्जनों पर प्राथमिकी दर्ज

एएसपी सिवान ने कहाँ की फर्जी संगठन है मस्तान बाबा का.लोगो को जागरूक होने की प्रशासन ने की है अपील

जिले के बड़हरिया थानाध्यक्ष पर वाहन जाँच के बहाने दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए बड़हरिया थाना चौक पर धरना देकर रोड जाम करना सिवान के आसाराम  असगर मस्तान बाबा समेत दर्जनों लोगो को महंगा पड़ गया।

बता दें  कि इन दिनों सिवान के आसाराम असगर मस्तान बाबा मानवाधिकार एवं अपराध नियंत्रण के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से नामित होकर जिले में वर्चस्व कायम करना चाह रहे थे।

धीरे-धीरे यह बात जिला प्रशासन महकमे को लगी तो प्रशासन में खलबली मच गयी तथा वरीय पुलिस पदाधिकारी के निर्देश के आलोक में सघन जाँच शुरू कर दी गयी की इसी बीच बीते दिन लग्जरी गाड़ी पर हूटर व बोर्ड लगा कर जब सिवान के आसाराम (2 ) उर्फ़ असगर मस्तान बाबा के काफिले की गाड़ी जिले के बड़हरिया थाना के समीप पहुँची तो कानूनन ढंग से बड़हरिया थानाध्यक्ष मुकेश कुमार ने उनके काफिला को रोक दिया तथा थानाध्यक्ष द्वारा कहा गया कि वाहन पर हूटर लगा कर चलना आपके द्वारा वैध नही है।

इसके साथ ही कई तरह की चेतावनी देते हुए थाना प्रभारी ने सिवान के आसारामअसगर मस्तान बाबा को छोड़ दिया और चेतावनी दिये जाने के दूसरे दिन लोगों में हवा व दिग्भर्मित करने के लिये सिवान के आसाराम असगर मस्तान बाबा ने अपने फर्जी संगठन के लोगो के साथ बड़हरिया थाना चौक पर धरना पर बैठ गया।

जिससे आसपास के लोग बातो को नहीं समझे और घंटो यातायात बाधित रहा। बाद में फर्जी संगठन होने के नाते जब प्रशासन ने कोई सुध नही ली तो घंटो बाद रोड जाम कर रहे फर्जी संगठन के लोग रोड जाम की समाप्ति कर दिए,

बाद में इस घटना की जानकारी जब एएसपी कार्तिकेय शर्मा को लगी तो श्री शर्मा के निर्देश के आलोक में बड़हरिया थाने में पदस्थापित  पुलिस पदाधिकारी के बयान पर नामजद प्राथमिकी दर्ज की गयी जिसमे सिवान के आसाराम (2) समेत  दर्जनों नामजद व दर्जनों अज्ञात लोगो को नामजद किया गया।

एएसपी श्री शर्मा ने बताया की यह फ़र्ज़ी संगठन है उन्होंने आम जनता से अपील करते हुए कहा की ऐसे फर्जी संगठन के बहकावे में आने की जरूरत नही है।

यहाँ बताते चले की सिवान के आसाराम (2) उर्फ़ असगर मस्तान बाबा के विरुद्ध प्राथमिकी कोई नयी बात नही है।

वर्षो पूर्व जिले के जीबी नगर थाना क्षेत्र के रौजा गौर गांव की एक युवती ने शादी का झांसा देकर कई वर्षों तक यौन शोषण का आरोप लगाते हुए महिला थाना सिवान में थाना कांड संख्या 105/13 दर्ज करायी थी।जिसमे आसाराम (2) व उसके सगे भाई शौकत अली को आरोपित किया गया था।

महिला थाना प्रभारी पूनम कुमारी ने उस समय त्वरित कार्यवाई करते हुए उसके पैतृक गांव रौजा गौर में छापेमारी कर मौके से शौकत अली को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था वही मौके का लाभ उठा कर आसाराम (2) फरार हो गया था।

फरार रहने की स्थिति में आसाराम (2) के घर की कुर्की जप्ती भी की गयी थी। यह मामला अभी सिवान न्यायालय में विचाराधीन है, दूसरी प्राथमिकी जिला मुख्यालय के पाल नगर की एक महिला ने अपने झाड़-फूंक के अड्डो पर बुला कर अश्लील हरकत करने से सम्बंधित जीबी नगर थाना में मामला दर्ज कराई थी।

जिसमे सिवान एसपी सौरभ कुमार साह के निर्देश के आलोक में जीबी नगर थानाध्यक्ष ललन कुमार ने उसके पैतृक गांव रौजागौर में छापेमारी कर गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

बहरहाल मामला चाहे जो हो क्षेत्रो में आसाराम(2) का लग्जरी गाड़ी पर हूटर तथा बोर्ड लगा कर चलना आम जनमानस में चर्चा का विषय बना हुआ है।