राष्ट्रपति ने काम करने की दी सीख

राष्ट्रपति

राष्ट्रपति ने काम करने की दी सीख

इलाहाबाद : 22 दिन के अंतराल पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद सोमवार को फिर संगम की धरती पर उतरे। हालांकि , वह बमरौली एयरपोर्ट से ही वापस हो गए। एयरपोर्ट पर राज्यपाल रामनाईक, कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी, मेयर अभिलाषा गुप्ता ने अफसरों संग उनका स्वागत किया। राष्ट्रपति के साथ कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद भी आए थे।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद चित्रकूट के रामभद्राचार्य दिव्यांग विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में शामिल हुए। इससे पहले उनका विशेष विमान दिन में तकरीबन साढ़े दस बजे बमरौली एयरपोर्ट पर उतरा। उनके स्वागत के लिए राज्यपाल रविवार को ही यहां आ गए थे।

राष्ट्रपति और कानून मंत्री के साथ राज्यपाल एवं कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल भी दीक्षांत समारोह में शामिल होने चित्रकूट रवाना हुए। वहां से वे लोग शाम तकरीबन पौने पांच बजे वापस बमरौली एयरपोर्ट पहुंचे। बमरौली से विशेष विमान से राष्ट्रपति के साथ राज्यपाल और कानून मंत्री दिल्ली के लिए रवाना हो गए। मंत्री नंद गोपाल नंदी सड़क मार्ग से लखनऊ के लिए रवाना हुए।

एयरपोर्ट पर राष्ट्रपति के स्वागत के लिए दोनों ही मौके पर राज्यपाल और कैबिनेट मंत्री के अलावा मेयर अभिलाषा गुप्ता, मंडलायुक्त डॉ.आशीष कुमार गोयल, डीएम सुहास एलवाई के साथ सेना और एयरपोर्ट अॅथारिटी के अफसर मौजूद रहे। राष्ट्रपति ने मेयर से कहा कि ‘मैंने आपकी चाभी संभालकर रखी है।’ राष्ट्रपति ने मेयर तथा अन्य अफसरों को काम करते रहने की सीख दी। साथ में शहर के कई अन्य बिंदुओं पर चर्चा की।

गौरतलब है कि राष्ट्रपति 15 और 16 दिसंबर को भी शहर में थे। उस दौरान वह मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान के दीक्षांत समारोह और हाईकोर्ट के कार्यक्रम में शामिल हुए थे। दो दिनी प्रवास के दौरान उन्होंने गंगा पूजन, बड़े हनुमानजी के दर्शन करने के अलावा चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा पर माल्यार्पण भी किया था। उसी समय मेयर ने राष्ट्रपति को शहर की चाभी भेंट की थी। सोमवार को एक और आगमन पर राष्ट्रपति उस स्वागत का जिक्र करना नहीं भूले।