मोकामा श्मशान घाट पर एक अजीबो गरीब घटना घटी-मुर्दा राम-राम कहते हुए उठ खड़ा हुआ

मोकामा श्मशान घाट पर एक अजीबो गरीब घटना घटी-मुर्दा राम-राम कहते हुए उठ खड़ा हुआ

पटना। राजधानी पटना के मोकामा श्मशान घाट पर एक अजीबो गरीब घटना घटी। यहां अंतिम संस्कार करने के लिए लाए गए मुर्दे को जलाने के लिए चिता पर लेटाया गया था। इस दौरान लोगों के रुदन के बीच एक अजीबो गरीब वाकया सामने आया। हुआ यूं कि लोग जैसे ही आग लगाने के लिए आगे बढ़े तभी लकड़ी गिरने लगी और मुर्दा राम-राम कहते हुए उठ खड़ा हुआ। जिसे देखने के बाद पहले तो लोग भयभीत होकर भागने लगे। लेकिन सच्चाई जानने के बाद उसे लेकर घर लौट गए जहां पहले से आंसू बहा रहे परिजन भी उसे देखकर अचंभित रह गए। इस अजीबोगरीब घटना को लेकर पूरे गांव में तरह-तरह की बाते की जा रही हैं।

मोकामा श्मशान घाट पर एक अजीबो गरीब घटना घटी-मुर्दा राम-राम कहते हुए उठ खड़ा हुआ

मिली जानकारी के अनुसार मोकामा के मराची गांव की है जहां के रहने वाले मनोज मलिक के पिता की मौत ठंड के कारण हो गई थी। जिन्हें त्यागी बाबा घाट लाया गया और अंतिम संस्कार की तैयारी की जा रही थी। उनके साथ पहुंचे कुछ लोगों ने ठंड के कारण आग जलाकर तापना शुरू किया जिसकी गर्मी से मरे हुए व्यक्ति अचानक हिलने लगा और जब सभी ने देखा तो वह खुद खड़ा होकर राम-राम करने लगा।

अपनी आंखों से इस तरह की घटना को देखने के बाद लोग हैरान रह गए। फिर उसे वापस अपने घर ले गए जब मृत व्यक्ति को जिंदा घर वापस लौटते हुए देखा गया तो सभी अचंभित रह गए और खुशी के मारे झूम उठे। वहीं दूसरी तरफ पूरे गांव में इस बात की चर्चा बड़ी जोर शोर से चल रही है। इस मामले में डॉक्टरों का कहना है कि ठंड के कारण सांस काफी कमजोर हो जाने की वजह से मृत मानकर अंतिम संस्कार करने के लिए ले गए थे लेकिन आग की गर्मी से वह फिर से जिंदा हो गया।