कंगना रनौत का मानना है कि बॉलीवुड में लोग हमेशा दूसरों को कमजोर महसूस कराना चाहते हैं.

एक्ट्रेस कंगना रनौत

विवादों से घिरी रहने वाली एक्ट्रेस कंगना रनौत का मानना है कि बॉलीवुड में लोग हमेशा दूसरों को कमजोर महसूस कराना चाहते हैं. इसलिए यहां अपने बात पर अड़े रहना बहुत मुश्किल होता है. हालांकि उनका मानना है कि वो कमजोर नहीं बनेंगी और विपरीत परिस्थितियों से हमेशा लड़ती रहेंगी.

कंगना ने एक ईमेल इंटरव्यू में आईएएनएस से कहा, ‘मैं इस इंडस्ट्री में आउटसाइडर हूं. इसलिए यहां मैं अपनी जगह बनाना चाहती हूं. मुझे भी अपनी राय देनी है और मैं अपने विचारों को स्पष्ट रूप से व्यक्त करने का विकल्प चुनती हूं.’

कंगना ने बताया, ‘हमारी इंडस्ट्री में अड़ियल रहना मुश्किल है. कुछ लोग ऐसे होते हैं जो आपको हमेशा कमजोर महसूस कराना चाहते हैं, लेकिन आपको अपनी ताकत, आत्मविश्वास को बढ़ाना होगा और कड़ी मेहनत करनी होगी. गलत चीजों के खिलाफ आवाज उठाना जरूरी होता है.’

उन्होंने कहा, ‘मैं महिलाओं को अपनी ताकत और कड़ी मेहनत पर विश्वास करने के लिए प्रोत्साहित करती हूं. मेरा आदर्श हमेशा ही अपने मार्ग का पालन करने और मानदंडों का शिकार नहीं होने का रहा है. मेरा मानना है कि अपने आप को मनाने और प्रत्येक अनुभव के साथ बेहतर होना महत्वपूर्ण है.’ यही वजह है कि वह हैशटैग फिट-टू-फाइट अभियान का प्रचार करने का प्रयास कर रही हैं.

‘मैं अपने साहस, विश्वास और धारणा की कहानियों के माध्यम से दूसरी लड़कियों को प्रेरित करने की उम्मीद करती हूं. मेरा मानना है कि हर महिला को शारीरिक, मानसिक और सामाजिक रूप से फिट होना चाहिए. मुझे आशा है कि मेरी कहानी दूसरी महिलाओं को लड़ने के लिए फिट होने के लिए प्रेरणा देगी.’