कुछ देर में भारत-पाकिस्तान के बीच महामुकाबला, क्या बर्मिंघम में दिखेगी बॉर्डर की टेंशन

भारत-पाकिस्तान के बीच यूं तो हमेशा से तनाव चलता रहा है. फिर चाहे बात सीमा की हो या क्रिकेट के मैदान की. एक तरफ सेना पाकिस्तान को ‘बंकर’तोड़ जवाब देती है, तो दूसरी तरफ भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी पाकिस्तानी टीम ‘बल्ला’तोड़ वार करती है. वहीं पिछले कुछ महीनों से सीमा पार से बढ़ीं आतंकी घटनाओं के बाद बॉर्डर पर टेंशन और ज्यादा बढ़ी हुई है. इस बीच दोनों देशों के बीच एक और टक्कर बर्मिंघम में होने जा रही है. रविवार दोपहर तीन बजे चैंपियंस ट्रॉफी के अपने पहले में ही भारत का मुकाबला चिर-प्रतिद्वंदी पाकिस्तान से हो रहा है.

बॉर्डर के बाद अब बर्मिंघम में पाकिस्तान को फिर भारत से मात मिलेगी. फौजी वर्दी वालों के बाद अब नीली जर्सी वाले भी आतंक के पालक देश के खिलाड़ियों से मैदान पर बदला लेंगे. LoC पर पिटने के बाद अब बर्मिंघम के मैदान में धूल चाटेगा पाकिस्तान.

हालांकि, क्रिकेट के मैदान में भारत पाकिस्तान को हराता रहा है. पिछले 10 मुकाबलों की बात की जाए तो पाकिस्तान को 6 बार भारतीय टीम ने मात दी है. खेल के मैदान में हार-जीत के बीच दोनों टीमों के खिलाड़ियों के दरमियान बॉर्डर जैसा ही तनाव देखने को मिलता है. कई मौकों पर दोनों टीमों के खिलाड़ी आपस में भिड़ते हुए भी नजर आए हैं.

भारत ने मई महीने में ही पाकिस्तान की कायराना हरकतों का ‘बंकर’तोड़ जवाब दिया. नौगाम सेक्टर में भारतीय सेना ने सीमा पार बने पाकिस्तानी बंकरो को ध्वस्त कर दिया. भारतीय सेना ने न सिर्फ आतंक को पनाह देने वाले इन बंकरो को बर्बाद किया बल्कि इसकी वीडियो भी पूरे देश और दुनिया को दिखाया. भारत के इस कदम के बाद पाकिस्तान बुरी तरह बौखला गया है.

इसके बाद 4 जून को पाकिस्तान ने एक वीडियो जारी किया. इस वीडियो के जरिए पाकिस्तान ने संर्घषविराम उल्लंघन की अपनी जवाबी कार्रवाई में भारतीय सेना के बंकरों को तबाह करने का दावा किया है. साथ ही पांच भारतीय जवानों को मारने का दावा भी किया है. हालांकि भारतीय सेना ने उसके इस वीडियो को झूठा करार देते हुए खारिज किया है.

क्रिकेट के मैदान में कश्मीर विवाद
सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI ने आज खेले जाने वाले भारत-पाकिस्तान चैंपियंस ट्रॉफी मैच में 14 से ज्यादा एजेंटों को भेजने की योजना बनाई है. इंग्लैंड के एजबैस्टन में होने वाले इस मैच के दौरान ISI ने अपने एजेंटों ऐसे तीन प्ले कार्ड्स दिखाने का निर्देश दिया है जो कश्मीर की आजादी के पक्ष में हों. इंडिया टुडे के पास जो जानकारी है उसके मुताबिक ISI से जुड़े एजेंट्स मैच के दौरान ‘कश्मीर लहुलूहान है’, ‘हम कश्मीर के साथ हैं’, ‘जम्मू-कश्मीर राज्य को अभी आजाद करो’ और ‘कश्मीर मांग रहा आपकी नजर’ जैसे स्लोगन वाले प्ले कार्ड्स मैच के दौरान दिखा सकते हैं.

कश्मीर विवाद से सीमा पार से घुसपैठ जैसी घटनाएं भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाले मैच के क्रिकेट मैदान को भी जंग के मैदान में तब्दील कर देती हैं. इसीलिए, ये सिर्फ दो क्रिकेट टीम के बीच नाक की लड़ाई नहीं है बल्कि ये दोनों देशों के 1 अरब 60 करोड़ लोगों के बीच सीधी भिड़ंत है. मैदान में जब भारत और पाकिस्तान की टीम उतरती है तो मानों देश ठहर जाता है. लोग टीवी के आगे चिपक जाते हैं. ऐसा रोमांच, ऐसा जुनून कहीं और नहीं दिखता. बॉर्डर में हमारे जवान पाकिस्तान को हर दिन पटकनी देते हैं. अब बारी विराट के योद्धाओं की है. आज क्रिकेट के मैदान में हमारे योद्धाओं की भिड़ंत पाकिस्तान क्रिकेट टीम से होनी है. ये एक और मौका होगा जब हम पाकिस्तान को गहरी चोट देंगे यानी बॉर्डर के बाद बर्मिंघम में पाकिस्तान को मात मिलेगी.