BIHAR : सॉफ्टवेयर के कारण अटका नियोजित शिक्षकों का बढ़ा वेतनमान..

पटना : राज्य के 3.57 लाख नियोजित शिक्षकों को सातवां वेतनमान का लाभ अब तक नहीं मिल सका है. अब तक सॉफ्टवेयर नहीं बनने से नियोजित शिक्षकों का सातवां वेतनमान का पे-फिक्सेशन नहीं हो पाया है.  हालांकि शिक्षा विभाग का दावा है कि जल्द ही सॉफ्टवेयर तैयार कर लिया जायेगा, लेकिन अब तक सॉफ्टवेयर तैयार नहीं होने से साफ है कि दशहरा में भी नियोजित शिक्षकों को बढ़े वेतनमान की राशि नहीं मिल सकेगी, जबकि सरकारी स्कूल में काम कर रहे पुराने वेतनमान वाले नियमित शिक्षकों को सातवां वेतनमान का लाभ मिलने लगा है.  जुलाई 2015 में नियोजित शिक्षकों को पहली बार नया वेतनमान मिला. उस समय भी शिक्षा विभाग ने सॉफ्टवेयर तैयार किया था, जिसके बाद शिक्षकों के वेतन की राशि निर्धारित हो रही है. उसी तरह नया सॉफ्टवेयर तैयार किया जा रहा है, जिसमें शिक्षक का नाम, जन्मतिथि, नियुक्ति की तिथि, वर्तमान में मिल रहे वेतनमान व ग्रेड पे की राशि डालने से ही नये वेतनमान की राशि का पता चल जायेगा.  सॉफ्टवेयर में शिक्षक का नाम, जन्मतिथि, नियुक्ति की तिथि  मिल रहे वेतनमान व ग्रेड पे की राशि डालने से तय होगा नया वेतनशिक्षा विभाग ने तय की है18 बिंदुओं पर राशि3.57 लाख नियोजित शिक्षकों को नहीं मिल सका सातवां वेतनमान22,220 रुपये तक मिलेगा अप्रशिक्षित शिक्षकों को वेतन दशहरा में भी नहीं मिलेगा बढ़ा वेतनमान   शिक्षा विभाग ने सातवां वेतनमान के लिए 18 बिंदुओं पर राशि तय किये हैं. प्रारंभिक व माध्यमिक स्कूलों के अप्रशिक्षित शिक्षकों को 5200 के वेतनमान के अनुसार 13,370 रुपये से 22,220 रुपये तक वेतन मिलेगा. वहीं, प्रारंभिक स्कूलों के प्रशिक्षित शिक्षकों के वेतनमान 5200 और ग्रेड पे 2000 को जोड़ कर कुल 7200 इंट्री पे किया गया है. इसमें 18,510 रुपये से 30,690 रुपये तक नियोजित शिक्षकों को मिलेगा. वहीं, हाईस्कूलों के प्रशिक्षित शिक्षकों व पुस्तकालय अध्यक्षों का वेतनमान 5200 और ग्रेड पे 2400 को जोड़ कर कुल 7600 इंट्री पे हो जायेगा. इस आधार पर उन्हें 19540 से 32,440 रुपये तक दिये जायेंगे. इसके अलावा प्लस टू स्कूलों के प्रशिक्षित शिक्षकों के वेतनमान 5200 और ग्रेड पे 2800 को जोड़ कर 8000 इंट्री पे किया गया है.

 

रिपोर्टर
शिवम् कुमार याजी