बाल विवाह और दहेज प्रथा सामाजिक कुरीति, शराब कारोबारियों पर होगी कड़ी कार्रवाई

बेतिया-  मुख्यमंत्री, बिहार, नीतीष कुमार ने कहा कि महिलाओं की मांग पर बिहार में पूर्ण शराबबंदी लागू की गयी। इस कानून का लाभ व्यापक स्तर पर देखने को मिल रहा है। शराब के कारण जिन घरों में हमेशा अनबन बनी रहती थी आज वह परिवार राजी-खुशी से रह रहे हैं। राज्य में पूर्ण शराबबंदी कानून लागू है फिर भी चोरी छुपे शराब का कारोबार होने की सूचना प्राप्त होती रहती है। उन्होंने कहा कि शराब कारोबारियों के विरूद्ध सख्ती से निपटा जोयगा। उन्होंने कहा कि बिजली के खंभों पर अधिकारियों का फोन नंबर अंकित रहेगा। कहीं भी शराब व्यवसाय हो रहा हो तो उस नंबर पर तुरंत सूचित करें, शीघ्र कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने कहा कि यह धरती हर स्थान की जरूरत को पूरा करने में सक्षम है लेकिन लालच की पूर्ति नहीं हो सकती है। उन्होंने कहा कि बिहार सरकार द्वारा नारी सशक्तीकरण पर जोर दिया जा रहा है। चंपारण सत्याग्रह के 100 साल पूरा होने पर राज्य सरकार द्वारा बडे़ निर्णय लिये गये हैं। दहेज प्रथा और बाल विवाह निषेध कानून कड़ाई से लागू किये गये हैं। शराबबंदी, बाल विवाह,
दहेज प्रथा के विरूद्ध अभियान चलाकर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि
बाल विवाह, दहेज प्रथा उन्मूलन हेतु कानून है लेकिन इसका अनुपालन सही ढंग से नहीं हो
रहा है। दहेज प्रथा एवं बाल विवाह के खिलाफ एक साथ अभियान चलाया जायेगा। उन्होंने
आम लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि अगर आप मन से संकल्प ले लिजियेगा कि दहेज वाली शादी में नहीं जायेंगे तो यह प्रथा धीरे-धीरे स्वतः ही बंद हो जायेगा। इसके लिए सामाजिक स्तर पर अभियान चलाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि शराबबंदी/बाल विवाह/दहेज प्रथा उन्मूलन के समर्थन में 21 जनवरी, 2018 को मानव श्रृंखला का आयोजन किया गया है। मानव श्रृंखला का रूट मैप जिलास्तर पर ही तय होगा। उन्होंने कहा कि वार्ड/गांव/पंचायत को सषक्त बनाया जा रहा है। वार्डस्तर पर विकास कार्य संपन्न कराया जायेगा। 2018 तक सभी घरों में नल का जल, सभी घरों में बिजली कनेक्षन का कार्य पूरा हो जायेगा। उन्होंने कहा कि सरकार के सात निश्चय योजना अंतर्गत आर्थिक हल युवाओं को बल, आरक्षित रोजगार, महिलाओं का अधिकार, हर घर बिजली लगातार, हर घर नल का जल, घर तक पक्की गली-नालियां, शौचालय निर्माण, घर का सम्मान, अवसर बढ़े, आगे पढ़े आदि कार्य कराये जा रहे हैं ताकि बिहार राज्य का देश में अग्रणी स्थान हो। उन्होंने कहा कि बिहार के विकास के लिए लगातार काम हो रहा है। गांव को बेहतर बनाने का कार्य सरकार द्वारा किया जा रहा है। मुख्यमंत्री, पतिलार (बगहा) में विकास कार्यों की समीक्षा यात्रा के अवसर पर
आयोजित विशाल जन सभा को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि 19 जनवरी, 2009 को वे यहां आये थे उसके बाद आज मौका मिला है। उन्होंने कहा कि गंडक नदी पर पुल का शिलान्यास उन्होंने किया जो निर्मित हो गया है। 19 जनवरी, 2009 में आने के पहले थरूहट विकास हेतु योजना उन्हें प्राप्त हुई थी। थरूहट में 4 एससी/एसटी आवासीय विद्यालयों का निर्माण पूरा हो गया है। बाकी बचे विद्यालय को फरवरी, 2018 तक पूर्ण कर लिया जायेगा। उन्होंने कहा कि पूरे बिहार में विकास कार्य अनवरत जारी है। इन्हीं विकास कार्यों की समीक्षा करने के लिए वे विकास यात्रा पर पूरे बिहार का भ्रमण कर रहे हैं। इसके पूर्व माननीय मुख्यमंत्री द्वारा रिमोट कंटोंल से लगभग 120 करोड़ रू0 लागत की विकास योजनाओं का संयुक्त रूप से शिलान्यास, उद्घाटन एवं लोकापर्ण किया गया। मुख्य
सभास्थल पर आने के पूर्व पतिलार पंचायत के विभिन्न वार्डों में सरकार के सात निश्चय सभास्थल पर आने के पूर्व पतिलार पंचायत के विभिन्न वार्डों में सरकार के सात निश्चय
योजनाओं यथा घर तक पक्की गली-नाली योजना, हर घर नल का जल योजना, हर घर बिजली लगातार योजना, शौचालय निर्माण, मनरेगा से निर्मित काउ शेड्स का निरीक्षण किया गया। पतिलार के बाद वे लौरिया प्रखंड के कटैया पंचायत में जिला निबंधन-सह-परामर्ष केन्द्र के द्वारा संचालित केवाईपी एवं स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड का वितरण कार्य का निरीक्षण, आपूर्ति विभाग द्वारा नए राशन कार्ड का वितरण, राजस्व विभाग द्वारा वासगीत पर्चा का वितरण, कटैया पंचायत के लाभुकों के बीच प्रधानमंत्री आवास योजना की द्वितीय किस्त का वितरण, समाज कल्याण विभाग द्वारा अन्तर्जातीय विवाह के लाभुकों के बीच प्रोत्साहन राशि का वितरण कार्यक्रम का निरीक्षण किया। इस अवसर पर वे कटैया में कृषि विभाग द्वारा लगाये गये विभिन्न स्टॉलों एवं प्रदर्षनी को देखा। सभा को माननीय मंत्री, खाद्य एवं उपभोक्ता मंत्री, मदन सहनी, गन्ना उद्योग मंत्री, खुर्षीद उर्फ फिरोज अहमद, सांसद, सतीष चंद्र दूबे, विधायक, राघवशरण पाण्डेय
सहित मुख्य सचिव, अंजनी कुमार सिंह, डीजीपी, पी.के. ठाकुर, डीएम, पश्चिम चम्पारण, डॉ0 निलेष रामचंद्र देवरे ने भी संबोधित किया। धन्यवाद ज्ञापन अपर समाहर्त्ता, अंसार अहमद
द्वारा किया गया। मुख्यमंत्री हेलिकॉप्टर द्वारा पटना से सीधे बगहा प्रखंड के पतिलार गांव में
आयोजित जनसभा में आये और फिर पतिलार के विभिन्न वार्डों में सरकार के सात निश्चय योजना
का निरीक्षण किया। इसके उपरांत वे जनसभा में शामिल हुए। पतिलार से वे हेलिकॉप्टर के द्वारा वे लौरिया प्रखंड के कटैया गांव में आये और वहां के विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लिया। इसके उपरांत वे मोतिहारी के लिए प्रस्थान कर गये। इस अवसर पर माननीय खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री/गन्ना विकास मंत्री, मुख्य सचिव, डीजीपी, जिला प्रभारी सचिव, उर्जा सचिव, मुख्यमंत्री के सचिव, सांसद, विधायक, आयुक्त एवं जिलास्तरीय पदाधिकारी आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *