आधार कार्ड की अनिवार्यता को खत्म करने के लिए राष्ट्रव्यापी प्रतिवाद कार्यक्रम के तहत मोदी नीतीश का पुतला दहन

आधार कार्ड

आधार कार्ड की अनिवार्यता को खत्म करने के लिए राष्ट्रव्यापी प्रतिवाद कार्यक्रम के तहत मोदी नीतीश का पुतला दहन

बेतिया। आधार कार्ड की अनिवार्यता को खत्म करने के लिए राष्ट्रव्यापी अभियान में भाकपा माले कल्याणकारी योजनाओं से आधार कार्ड को जोड़ने की प्रक्रिया को बंद करने की मांग कियाI आधार कार्ड की अनिवार्यता को खत्म करने के लिए राष्ट्रव्यापी प्रतिवाद कार्यक्रम के तहत मोदी नीतीश का पुतला दहन, आधार कार्ड की सूचना लीक होने से आ सकती है, समाज में अराजकता आधार कार्ड की अनिवार्यता को खत्म करने के लिए चलाए जा रहे हैं, राष्ट्रव्यापी प्रतिवाद कार्यक्रम के तहत भाकपा माले के तत्वधान में बेतिया में प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला मजदूर, किसानो व युवाओं ने दहन किया।

पुतला दहन के क्रम में भाकपा माले राज्य कमिटी सदस्य कामरेड सुनील यादव ने अपने संबोधन में कहा कि आधार कार्ड से राशन कार्ड को जोड़ने के कारण झारखंड में 3 लोगों की मौत हो चुकी है। अभी आधार कार्ड निवास प्रमाण पत्र आदि के साथ राशन कार्ड, आवास योजना को जोड़ने की प्रक्रिया के चलते कड़ाके की ठंड में लोग लाइन में लगने के लिए मजबूर है। कई कई दिन लाइन में इनकी बारी आ रही है। गौनाहा में तो पिछले दिन लाइन में एक दूध में ही बच्चे अपनी मां की गोद में दम तोड़ गई।

बिहार में आधार कार्ड से जोड़ने के नाम पर लाखों स्कूली छात्रों को छात्रवृत्ति से तो विधवाओं को उनके पेंशन से वंचित कर दिया गया है। विकलांगो तक को तबाह किया जा रहा है। गरीबों के आवास योजना से लेकर किसानों को मिलने वाली खाद बीज की सब्सिडी बैंक अकाउंट को आधार कार्ड से जुड़कर लोगों को परेशान करने के साथ-साथ अधिकतर लोगों को उनके अधिकारों से वंचित किया जा रहा है।

उंगलियों के आंखों की पुतलियों में बदलाव के कारण आधार कार्ड मोदी सरकार के लिए गरीबों को कल्याणकारी योजनाओं से वंचित करने का औजार बन गया है। जबकि आधार कार्ड से निजी सूचना के लीक होने की खबर आ रही है। बैंक अकाउंट से पैसे दूसरे भी निकाल सकते हैं। बीमा, नौकरी, जमीन खरीद- बिक्री, राशन कार्ड बनाने आदि में 3डी प्रिंटर के जरिये आधार कार्ड में दी गई उंगलियों के निशान के आधार पर कोई किसी के साथ फर्जीवाड़ा कर सकता है। यहां तक कि बहुत से लोगों की जान खतरे में पड़ सकती है।

\इस तरह की समाज में अराजकता फैलने की आशंका जताई जा रही है। ऐसी स्थिति में आधार कार्ड की अनिवार्यता को खत्म करने के लिए चलाए जा रहे राष्ट्रव्यापी अभियान में भाकपा माले अपनी एकजुटता व्यक्त करता है और कल्याणकारी योजनाओं से आधार कार्ड को जोड़ने की प्रक्रिया को बंद करने की मांग करता है। कार्यक्रम को उसके सुरेंद्र चौधरी, संजय यादव, जितेंद्र राम, प्रमोद राम व अन्य नेताओं ने भी संबोधित किया। मौके पर उपस्थित रहे।